Kids poem - Hindi kavita - हिन्दी कविता : घर पर रहे, सुरक्षित रहे/ Stay safe at your home - COVID-19

Tuesday, March 24, 2020

घर पर रहे, सुरक्षित रहे/ Stay safe at your home - COVID-19


*तूफ़ान के हालात है ना किसी सफर में रहो.*..

*पंछियों से है गुज़ारिश अपने शजर में रहो.*..

*ईद के चाँद हो अपने ही घरवालो के लिए.*..

*ये उनकी खुशकिस्मती है उनकी नज़र में रहो*...

*माना बंजारों की तरह घूमे हो डगर डगर*...

*वक़्त का तक़ाज़ा है अपने ही शहर में रहो..*.

*तुम ने खाक़ छानी है हर गली चौबारे की..*.

*थोड़े दिन की तो बात है अपने घर में रहो.*..

No comments:

Post a Comment